header
Mountain View

वन मंडलाधिकारी दुर्ग का संदेश

राष्ट्रीय वन नीति 1988 के प्रावधानानुसार देश में 33 प्रतिशत वनाच्छादन होना चाहिए, दुर्ग वनमण्डल में दुर्ग एवं बेमेतरा जिले का सम्पूर्ण भौगोलिक क्षेत्र सम्मिलित है जो 509317 हेक्टेयर है जिसमें से वनक्षेत्र 248.59 हेक्टेयर है जो भौगोलिक क्षेत्र का 0.04 प्रतिशत है। अत: राष्ट्रीय नीति के 33 प्रतिशत वनाच्छादन के लक्ष्य प्राप्ति हेतु छ0ग0 शासन वन विभाग, आक्सीवन वृक्षारोपण, ग्रामवन वृक्षारोपण, नदीतट वृक्षारोपण, सड़क किनारे वृक्षारोपण, विशेष प्रजाति वृक्षारोपण, क्षतिपूर्ति वृक्षारोपण, नगरवन वृक्षारोपण, अटल अक्सीवन शहरी वृक्षारोपण आदि योजनाओं एवं जन सहयोग के माध्यम से सतत् प्रयासरत् है।
वनमण्डल अंतर्गत 550 बसोड़ परिवार हैं जिन्हें समय—समय पर बांस प्रदाय किया जाता है, अत: समय—समय पर बांस की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु मुख्य मंत्री बांस बाड़ी योजना का क्रियान्वयन विभाग द्वारा 2016-17 से किया जा रहा है जिससे उनकी निस्तार आपूर्ति किया जाना आसान हुआ है।
कृषि वानिकी के अंतर्गत संचालित हरियाली प्रसार योजना का क्रियान्वयन विभाग द्वारा 2005-06 से किया जा रहा है, भारत सरकार द्वारा भारतीय वन अधिनियम 1927 में संशोधन कर बांस को वृक्ष की श्रेणी से हटाकर घांस की श्रेणी में रखा गया है एवं परिवहन हेतु टी.पी. की अनिवार्यता से मुक्त कर दिया गया है जिससे बांस के वृक्षारोपण को बढ़ावा देना आसान हुआ है।

WHO IS WHO

RK PCCF
SHRI R.K SINGH, IFS
d CCF DURG
SHRI PREM KUMAR, IFS

DIVISIONAL FOREST OFFICER DURG
SHRI. DHAMMSHIL GANVEER,IFS

CG GOVERMENT

CG FOREST